युवा कवि


।। कविता : निकानोर पार्रा ।। 
अनुवाद : नारायणजी 


।। युवा कवि ।।

देखह जेना तोँ चाह'

जाहि कोनो भाव मे।

पुल तर बहुत रास शोणित

बहि चुकल अछि
मात्र ई प्रमाणित करैत
जे एक्केटा रस्ता सही थिक ।

कविता मे सभ किछु उचित अछि

तोरा मात्र एकटा अलिखित कागज केँ
सुंदर बनयबाक छह।


______________________


निकानोर पार्रा, मूल नाम : निकानोर सेगून्दो पार्रा सानदोवाल (5 सितम्बर 1914 – 23 जनवरी 2018) विश्वप्रसिद्ध कवि छथि। एतय प्रस्तुत कविताक अनुवाद सुप्रतिष्ठित कवि-कथाकार नारायणजी द्वारा मैथिली मे सम्भव भेल अछि। हुनक परिचय आ 'ई-मिथिला' पर प्रकाशित कार्यक लेल एतय देखी :  वाइपर | चौमुख दीप | आकाशलीना | एकसरि नहि छी ■ एहि प्रविष्टि मे प्रयुक्त छवि : सोफी बासोल्स।
युवा कवि युवा कवि Reviewed by e-Mithila on July 06, 2020 Rating: 5

1 comment:

Powered by Blogger.